ssc kya hai

SSC क्या है ? कैसे मेरे दोस्त ने इस फोर्मुले से पहले साल में निकाला SSC

क्या आपके मन  में भी ssc kya hai या फिर ssc kya hota hai प्रश्न आते रहते है और आप एक डिटेल्स जानकारी की खोज में हैं। तो अब आपकी खोज पूरी हुयी।

मैं आपको बताने वाला हूँ की कैसे मेरे दोस्त ने इस फोर्मुले से पढ़ा, और वो पहली बार में SSC निकालें में कामयाब रहा. आज वो अच्छे पोस्ट पर जॉब कर रहा हैं. उससे एक इंटरव्यू में किये गये बात को मैं अपने भाषा में लिखने की कोशिश कर रहा हूँ.

क्युकि हम आपके Problem को समझते है और आपके लिए ये खास Post लेकर आगये है। जिसका नाम ” SSC क्या है ? SSC का तैयारी कैसे करे ? full details हिंदी में ” है।

मुझे याद है जब मैं High स्कूल में था तब पहली बार ssc के बारे में अपने किसी दोस्त से सुना था। तब मैं इसके बारे में बिलकुल अनजान था। और नहीं मेरे पास उस समय mobile या फिर और कोई expert Teacher था जिससे मैं थोड़ा details से ssc के बारे में समझ पाऊं। मेरे मन में लगभग कुछ इस प्रकार के प्रश्न उठते रहते थे।

  1. ssc kya hai
  2. ssc kya hota hai
  3. ssc cgl kya hai
  4. ssc gd kya hai
  5. ssc ka full form kya hai
  6. ssc chsl kya hai
  7. ssc kya hai details in hindi
  8. ssc gd kya hai in hindi
  9. ssc exam kya hai
  10. ssc cgl se kya banta hai
  11. ssc kya hai hindi mai
  12. ssc chsl kya hai in hindi
  13. ssc ka matlab kya hai
  14. ssc ka pura naam kya hai
  15. ssc kya hai in hindi

परन्तु आज तो सबकी दुनिया लगभग Mobile से ही शुरू और Mobile पर ही बंद होता है। और आज आपके पास Opportunity भी है यदि कोई problem होता है तो आप direct अपने mobile की सहायता से उसे बरे ही आराम से search कर सकते हैं।

यकीन मानिये मोबाइल आज के युग में कुछ लोगो के लिए वरदान भी है और कुछ लोगो के लिए श्राप भी। परन्तु घबराईये नहीं आप इस पोस्ट को पढ़ रहे है तो आप यक़ीनन सदुपयोग कर रहे है। तो चलिए शुरू करते है।

 

SSC क्या है ? ( SSC Kya Hai )

SSC का full form,  staff selection commission जिसे हिंदी में कर्मचारी चयन आयोग भी कहा जाता है। इसकी शुरुआत 1977 में भारत सरकार द्वारा किया गया था। इसके अंतर्गत group B तथा group C के कर्मचारियों की भर्ती बिभिन्न मंत्रालयों एवं अन्य सरकारी पदों  के लिए exam लिया जाता है।

केंद्र सरकार को ज्यादा तर जब भी किसी पद के लिए भर्ती लेनी होती है तब वो SSC को एक notice देता है जिसके आधार पर SSC उस पद के लिए परीक्षा आयोजित करता है।  SSC सिर्फ केंद्र सरकार के लिए हि vacancy निकलता है परन्तु जब भी किसी राज्य को भर्ती लेना होता है तब क्या होगा।

इसके लिए SSC सभी राज्यों के लिए अलग अलग संस्थाएं बनायीं है। इसमें ज्यादा बदलाव नहीं है बस SSC के आगे उस राज्य का पहला अक्षर लगा दिया जाता है। जैसे की बिहार के लिए BSSC, हरियाणा के लिए HSSC और उत्तरप्रदेश के लिए UPSSC  अपने अपने राज्यों के लिए विभिन्न पदों पर भर्तियां लेती रहती है।

परन्तु याद रहे ये संस्थाएं सिर्फ group B और group C के पदों के लिए ही भर्तियां निकलती हैं।

अब आप सोचेंगे की ये group B और group C के पदों में क्या क्या आता है। सच में ये एक बहुत ही confuse करने वाला question है। मुझे भी पहले इसमें बहुत confusion होता था but आज मैं आपकी सारी confusion दूर कर दूंगा बस ये पोस्ट लास्ट तक पढ़ते रहिये।

Group B और Group C post क्या है?

सबसे पहले ग्रुप B के बारे में जानते है। group b को दो भागो में बाटा गया है पहला Gazetted और दूसरा Non Gazetted . अब आप बोलोगे अरे यार तुम तो confuse कर रहे हो परन्तु विश्वास कीजिये थोड़ी देर में आप expert बनने वाले हैं।

Group B या Class 2 ( Gazetted )

इस में भारत के उच्य managerial और प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति होती हैं। ज्यादातर लोग यहाँ पर UPSC ( Union Public Service Commission ) के परीक्षा पास करने के बाद या फिर promotion के बाद ही पहुंच पाते हैं। ये लोग ज्यादातर किसी department के head होते है।

कुछ उदाहरण से समझते हैं जैसे की JEO’s ( Junior commissioner officers ) चाहें वो भारतीय सेना ( Indian armed forces ) या राज्य प्रशासनिक सेवा ( State civil services ) के हो इसी post के अंतर्गत आते हैं।

इनकी salary की बात करे तो अलग अलग स्थानों पर बदलता रहता है जोकि 5000 से 40000 भारतीय रुपया हो सकता है। ये depend करता है अलग अलग pay scale पर जो केंद्र या state के सरकारों के द्वारा निर्धारित किया जाता है।

Group B या Class 2 (Non – Gazetted )

Gazetted और Non Gazetted कर्मचारियों में मुख्या अंतर यही है की ये कोई महत्वपुर्ण प्रशासनिक भूमिका नहीं रखतें हैं। और न ही ये कोई व्यक्तिगत रूप से सरकार के तरफ से कोई stamp जारी कर सकते हैं।

केंद्रीय बैंको में काम करने वाले कर्मचारी भी Non Gazetted अधिकारी के श्रेणी में आते हैं।जैसे कि supervisors, office executives, State Inspectors, Central Police officers इत्यादि।

Group C या class 3 कर्मचारी

ये लोग Non supervisory Post पर काम करने वाले Public servant है जो किसी भी महत्वपूर्ण प्रशासनिक पदों पर सीधे रूप से नियुक्त नहीं किये जा सकते हैं। हालाँकि इनका promotion करके इन पदों पर भेजा जा सकता है।

जैसे – Head Clerks, Stenographers, Tax Assistants, Typists, Telephone Operators और सामान स्तरों पर काम करने वाले कर्मचारी इसके अंतरगर्त आते हैं।

SSC कौन – कौन सा exam लेता है ?

जैसा की हमलोगो ने जाना कि ssc एक board है जो कि अलग – अलग पदों के लिए भर्तियां करता है। तो सवाल ये उठता है की ये कौन – कौन सा exam करता है।

ये प्रत्येक वर्ष विभिन्न प्रकार के प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन करता रहता है। जैसे कि CGL, CHSL, STENO, JE, CAPF, JHT इत्यादि।

इसमें अलग अलग योग्ताएं ( Qualifications ) शामिल होता हैं। आप अपनी योग्यता के अनुसार अपने लिए सही exam का चयन कर सकते है और विभिन्न सरकारी पदों पर जा कर अपना सपना साकार कर सकते है।

घबराईये नहीं मैं सभी परीक्षाओं के लिए क्या क्या योग्यता है बिस्तार से बताऊंगा बस इस post को पढ़ते रहिये।

SSC CGL क्या  है ?

एसएससी Cgl  यानि की combined graduate level  examination इस exam को सिर्फ वो ही लोग दे सकते है जो किसी भी विषय से कम से कम स्नातक ( Graduate ) pass कर लिए हों।

इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के बाद आप सीधे Food Inspector ( खाद्य प्रवेक्षक ) Income tax Officers ( आयकर अधिकारी ) Auditor ( ऑडिटर ) इत्यादि पदों पर अपनी सेवा देने के लिए योग्य हो जायेंगे।

SSC  CHSL क्या है ?

Combined higher secondary level examination इसका पूरा नाम है और इस परीक्षा को pass करने के बाद आप सीधे LDC ( Loar division clerk ), Clerk इत्यादि के पदों पर नियुक्त किये जा सकतें हैं। इस exam को देने के लिए आपको कम से कम 12th या Intermediate pass होना अनिवार्य है।

Steno

Stenography यानि की आशुलिपि के पद के लिए इस एग्जाम को conduct किया जाता है। जिसको देने के लिए आपको 12th या इसके समान्तर कोई परीक्षा pass अनिवार्य है।

SSC JE

Junior engineer ( JE ) का एग्जाम देकर आप भारत सरकार के विभिन्न विभागों में Junior इंजीनियर बन सकते है। परन्तु यह exam देने के लिए आपके पास संभंधित stream में Diploma का certificate होना चाहिए।

जैसे की यदि mechanical junior engineer का vacancy है तो आपको Diploma In Mechanical Engineering  में Diploma का certificate होना चाहिए।

SSC CAPF

इसका full form Central Armed Forces होता है। इसके एग्जाम को  देने के बाद आप केंद्र सरकार के सशस्त्र बल में अपनी सेवा दे सकते हैं। इसके अंतर्गत आप Inspector, Sub Inspector, इत्यादि के पदों  पर जा सकते है। एग्जाम देने के लिए आपको कम से कम स्नातक ( graduate ) होना अनिवार्य है।

SSC JHT

देखिये SSC JHT का full form junior Hindi translator होता है।  यह एग्जाम देने के लिए आपको 12th पास होना जरुरी है। exam पास करने के बाद आपको हिंदी अनुवादक ( Hindi translator ) के रूप में काम करने का मौका मिलेगा।

SSC MTS

हम जानते है की SSC MTS का फुल फॉर्म Multi tasking staff  होता है। इसके अंतर्गत आप विभिन्य सरकारी दफ्तरों में चतुर्थ्य वर्गीय कर्मचारी के रूप में काम कर सकते है। परन्तु ये एग्जाम groud d level पर लिया जाता है। यह एग्जाम देने के लिए कम से कम 12th पास होना चाहिए।

यह वेबसाइट ssc का आधिकारिक website नहीं है। SSC के बारे में किसी भी आधिकारिक जानकारी  के लिए कृपया इसके आधिकारिक website ( www.ssc.nic.in ) पर जाएँ।

SSC के exam के लिए तैयारी कैसे करें ?

जैसा की आपको पता है आज सरकारी नौकरी पाने के लिए लोग कितना कठिन परिश्रम कर रहे है। परन्तु फिर भी उसमे कुछ लोग ही होते है जो सरकारी नौकरी लेने में सफल होते है। इसका सबसे बारे कारण है की लोग सही तरीके से तैयारी नहीं कर पा रहें है।

अब आप पूछेंगे सही तरीके से तैयारी कैसे करे ? इसी बात पर अब हम लोग Discussion करेंगे। और जानेंगे कुछ खास strategy जिसको follow करके आप थोड़ा प्ररिश्रम में ही इस परीक्षा को pass कर सकते है।

Questions Bank 

 ssc की तैयारी शुरू करने से सबसे पहले आपको question बैंक को अवस्य देखना चाहिए। पिछले कम से कम 10 सालों का question आप जरूर देखें और उसके बाद ही decide करे की क्या आप इन सभी questions को solve करने के लिए अपने आप को तैयार कर पाएंगे।

Questions बैंक को देखने से आपको एक सटीक अंदाज़ा हो जायेगा की exam में किस type के प्रश्न पूछे जाते है। जिससे आप अपने आप को उसके लिए तैयार कर पाए और आपको किस प्रकार से strategy बनानी होगी।

Time table ( Schedule )

Questions बैंक देखने के बाद ये तो आप अच्छी तरह समझ जायेंगे की आपको किस प्रकार से पढ़ना चाहिए। अब आता है time table बनाने का समय, किसी भी competitive exam को crack करने के लिए Time Table बहुत ही जरुरी step होता है।

बिना टाइम टेबल  के किसी भी Competitive exam को पास करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। इसलिए आप टाइम टेबल जरूर बनाये।

कई बार ऐसा होता है की time table तो हम बना लेते है परन्तु वो इतना heavy बना लेते है की उसको follow करना बहुत कठिन हो जाता है। इसलिए time table बनाते समय इस बात का खास ख्याल रखे की आप जो टाइम टेबल बना रहें है वो follow able होना चाहिए।

Books

Time Table बनाने के बाद अब सवाल ये आता है की आप क्या पढ़ रहे है, जो पढ़ रहे है वाकई आपको वही पढ़ना चाहिए। क्युकी market में ऐसे बहुत से फालतू के books available है जो झूठ-मुठ के SSC pass करवाने का ढिंढोरा पीटते रहते है।

इस लिए आप Books लेते समय इस बात का खास ख्याल रखे की आप हमेसा अच्छे Publication और Author का ही book ले।

Youtube Videos

यदि आप Books नहीं खरीद सकते है तो आप Youtube की मदद ले सकते है यहाँ पर भी आपको बहुत से ऐसे channel मिल जायेंगे जो आपको SSC की तैयारी करवाते है। मैं Recommend करूँगा की Trusted Source से ही पढाई करे। आप चाहें तो Wifi Study channel को subscribe कर सकते है यहाँ भी बहुत सी वीडियो मिल जायेगा।

Syllabus

वैसे तो आप जब अच्छे Author का बुक लेंगे तो वो सब आपके Syllabus को ध्यान में रख कर ही बनाया जाता है परन्तु फिर भी आप Syllabus download कर ले और उसके हिसाब से पढाई चालू करे। ताकि आप सिर्फ और सिर्फ वही पढ़ें जिसकी आपको सही में जरुरत है।

Target Achievement

कई बार ऐसा होता है की हम सब Time Table बनाने के बाद पढ़ना शुरू कर देते है। परन्तु कुछ दिन बाद कोई result नहीं मिलता है तो उदास हो जाते है और पढ़ना कम कर देते है टाइम टेबल भी फॉलो नहीं हो पाता है। इसीलिए अपने Target को छोटे छोटे भागो  में बाँट ले जिससे होगा ये की आप अपना टारगेट पूरा करते जायेंगे और आपको आदत हो जायेगा Target achievement करने का।

जैसे की मान लीजिये हमें 4 Subject को पढ़ना है और चारो में 12-12 Chapters हैं। तो हमें क्या करना इस 12 Chapters को 4 भागों में बाँट लेना है। अब हर भाग में सिर्फ 3 chapters ही आएंगे, तो हमें पहले इन तीन chapters को अच्छी तरह से पढ़ लेना है उसके बाद ही दूसरे chapter पर ध्यान देना है।

Revision

ये सभी चीज़ों को सही तरीके से करने के बाद जो सबसे ज्यादा Important और मेरा favorite चीज़ है वो revision करना है। बिना revision आप 10th का exam नहीं pass कर सकते है ये तो फिर भी competitive exam है। मैं जब भी Revision की बात करता हूँ मेरे बच्चपन में पढ़े ये दो लाइन जरूर याद आतें है।

करत करत अभ्यास, जरमति होत सुजान ।

रसरि आवत जात ते, शील पर परत निशान।।

मान लीजिये आप खाना खा रहे है और अचानक बिजली चली जाये एकदम से अँधेरा हो जायेगा और आपको कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा है। अब आप खाना खाइये क्या आपका खाना सीधे आपके मुँह में जा रहा है?

आप बोलियेगा कैसा पागल आदमी है, ये भी कोई पूछने की बात है। definitely मुँह में ही जायेगा, परन्तु मैं आपसे पूछूंगा क्यों सीधे मुँह में ही जायेगा ? आपके गाल पर क्यों नहीं लगा जबकि आपको कुछ दिखाई नहीं दे रहा है।

अब आपके दिमाग की बत्ती जल गयी होगी। मैं आपको यही बताने की कोशिस कर रहा हूँ। Revision इतना कर लीजिये की अँधेरे में भी आपको कुछ देखने की जरुरत न परे।

Questions पूछें

आपके पास कोई ऐसा होना चाहिए जिससे आप जब चाहें questions पूछ सके क्युकी Questions पूछने से आपका दिमाग खुलेगा और आप अच्छी तरह से समझ सकते हैं। चाहे तो आप अपने नजदीकी में कोई छोटा सा tuition पकर सकते हैं। या

आप चाहें तो Facebook ग्रुप की मदद ले सकते हैं। जहा पर कई सारे शिक्षक और साथी Students जुड़े होते है और आप उनसे Direct अपना Questions पूछ सकते हैं। आप चाहे तो Google बाबा की मदद भी ले सकते हैं।

Continuity

किसी भी कार्य में सफल होने का मूल मंत्र है है सतता ( Continuity ) . इसके बिना कोई व्यक्ति सफल नहीं हो सकता है। चाहे वो कितना हूँ मेहनत कर ले चाहे वो पढाई हो या फिर व्यापार हर जगह Continuity की जरुरत है।

Continuity का अर्थ ये नहीं की आप लगातार 10 घंटा या 18 घंटा पढ़ते रह जाएँ, बल्कि Continuity का सही अर्थ है की चाहे आप 2 घंटा ही पढ़ें परन्तु daily पढ़ें।

Health

पढ़ते पढ़ते आपको ये नहीं भूलना है की   “एक स्वस्थ शरीर में हि स्वस्थ दिमाग का वास  होता है। ”

मेरे कितने ऐसे मित्र थे जो जी जान से पढाई करते और Main Exam के समय ही उनका स्वस्थ ख़राब हो जाता था और इतना की वो Exam भी नहीं दे पाए।

इसलिए पढाई के साथ साथ आपको अपने स्वस्थ पर भी अच्छा से ध्यान देना है। ताकि आपको एग्जाम के समय कोई परेशानी न हो। या बिच में तबियत ख़राब होने के कारन आपके पढाई में कोई disturbance न हो।

ये भी पढ़े-:

Conclusion

हमने इस पोस्ट में पढ़ा SSC kya hai ( ssc क्या है ? ) ssc ki taiyairi kaise kare ( ssc की तैयारी कैसे करे ? ) और इसके विभिन्न बिंदुओं पर ध्यान दिया। साथ में हमने ये भी पढ़ा की खास कर किन-किन बिंदुओं को ध्यान में रखना जरुरी है।

उम्मीद करता हूँ की आपको  “SSC क्या है ? SSC का तैयारी कैसे करे ? full details हिंदी में”  post पसंद आया होगा। यदि किसी भी प्रकार का कोई भी Questions यदि आपके मन में है तो please लिखने में chip Feel न करे।

आप अपने दोस्तों का मदद भी कर सकते है इस post को share करके। आप चाहें तो इसे Facebook group और whatsapp पर भी Share कर सकते हैं।

हमारे मिशन में भाग लेने के लिए इस पोस्ट ssc क्या है को अधिक से अधिक लोगो तक पहुंचाए। और निचे comment जरूर करे। ताकि हमारी मोटिवेशन बानी रहे और हम इसी प्रकार से लिखने के लिए प्रेरित होते रहें।

मेरा देश Digital बनेगा 

Leave a Reply