एक महत्वपूर्ण बात OTP Kya hai आपको जरुर पता होना चाहिए ?

otp kya hai

क्या आप जानना चाहते है की ( otp kya hai ) OTP क्या है ? OTP के फयेदें क्या क्या है ? OTP को कैसे इसतेमाल करते है ? तो आप बिलकुल सही पोस्ट पढ़ रहे है ! इस पोस्ट में मैं आप सबसे OTP क्या है इसके बारे में ही बात करेंगे . तो … Read more एक महत्वपूर्ण बात OTP Kya hai आपको जरुर पता होना चाहिए ?

Operating System क्या है ? ये 5 चीज़ें आपको नहीं पता होंगे।

Operating system kya hai

क्या आप जानना चाहते है की operating system क्या है, ( what is operating system in Hindi ) कैसे काम करता है और कितने प्रकार का होता है ? तो आप बिलकुल सही जगह पर है क्युकी मैं आज आप सबके साथ इसी के बारे में बात करने वाला हूँ। तो चलिए शुरू करते है। … Read more Operating System क्या है ? ये 5 चीज़ें आपको नहीं पता होंगे।

ITI क्या है ? Admission कहाँ करायें, और उसके बाद नौकरी कहाँ मिलेगा ?

iti kya hai

ITI Kya hai ? ( आईटीआई क्या है ? ) Iti का full form, Industrial training institute ( प्रधौगिक प्रशिक्षण संस्थान ) होता है। जैसा की आपको नाम से ही पता चल रहा है Industrial training इसका मतलब आपको इस course के माध्यम से Industries में काम करने के लिए trained ( प्रशिक्षित ) किया … Read more ITI क्या है ? Admission कहाँ करायें, और उसके बाद नौकरी कहाँ मिलेगा ?

SSC क्या है ? कैसे मेरे दोस्त ने इस फोर्मुले से पहले साल में निकाला SSC

ssc kya hai

क्या आपके मन  में भी ssc kya hai या फिर ssc kya hota hai प्रश्न आते रहते है और आप एक डिटेल्स जानकारी की खोज में हैं। तो अब आपकी खोज पूरी हुयी। मैं आपको बताने वाला हूँ की कैसे मेरे दोस्त ने इस फोर्मुले से पढ़ा, और वो पहली बार में SSC निकालें में कामयाब रहा. आज वो … Read more SSC क्या है ? कैसे मेरे दोस्त ने इस फोर्मुले से पहले साल में निकाला SSC

Mutual fund kya hai ? Mutual fund में सुरक्षित निवेश कैसे करे ? Full Guide

Mutual fund kya hai

Mutual fund kya hai

Mutual funds वैसे तो काफी समय से चल रहा है परन्तु भारत में यह कुछ सालों पहले से ही popular होना शुरू हुआ है। ऐसे में हमारे मन में ये सवाल mutual fund kya hai या mutual fund kya hota hai उठना लाज़मी है। तो चलिए पहले ये समझ लेते है की Mutual फण्ड क्या है ?

Mutual funds शेयर मार्केट में invest करने का एक Indirect तरीका है जहा से आप अपना पैसा बाज़ार में लगा सके। अर्थात बहुत सी कंपनिया और Expert लोग शेयर मार्केट में Invest करते है या फिर करवाते है और पैसा कमाते है। तो ये क्या करते है की बहुत सारे लोगों से mutual funds बेचते है और वो पैसा इकठ्ठा करते है और फिर सबको एक साथ शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करते है और जो भी profit होती है उसे सभी में बाँट दिया जाता है।

चलिए इसे एक उदहारण से समझा जाये।

मान लीजिये मुझे अपना पैसा शेयर market में invest करना है और मुझे शेयर मार्केट के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है की इसमें कैसे Invest किया जाता है।  कितने प्रकार का share market होता है और कहा अपना पैसा Invest करने से मुझे फायदा होगा। क्युकि ये काम जोखिम से भरा हुआ है और यदि मैं सही जगह Invest नहीं करता हूँ तो हो सकता है मेरा पैसा डूब जाये।

तो मैं अब mutual funds खरीदने का सोचूंगा क्यों की ये थोड़ा आसान है। मान लीजिये मैंने 1000 रुपये के monthly का कोई एक plan खरीद लिया। अब मेरे ही तरह कई ऐसे लोग है जिनको शेयर मार्केट के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं है। और उन्होंने भी 1000 रुपये monthly वाला प्लान खरीद लिया।

अब suppose कीजिये की ऐसा 100 लोगो ने एक ही company या expert से ये प्लान ले लिया। तो उस company  या फिर उस Expert के पास लगभग  ” 1000 * 100 = 100000 ” रुपये आ जाते है।

अब वो expert अपने research और अनुभव के आधार पर इन रुपयों के मूल्य का अलग – अलग या फिर एक कंपनी का शेयर Value खरीदेगा। फिर उसमे जिस प्रकार से लाभ-हानि होगा वो आपको भी मिलेगा। यदि एक line में बोलूं तो  ” म्यूच्यूअल फण्ड, share market में Invest करने का एक दलाल या फिर बिचौलियाँ है “.

Mutual Funds SEBI ( Securities and Exchange Board of India ) के द्वारा पंजीकृत ( registered ) है। यह संस्थान भारत सरकार द्वारा चलाया जाता है जिसका काम यह देखना होता है की कोई company या फिर कोई Induvisual आदमी लोगो के साथ धोखा तो नहीं कर रहा है। बाजार में निवेशकों का पैसा सुरक्षित रखना भी SEBI की ही जिम्मेवारी है।

अब आप समझ गए होंगे की mutual fund kya hai या फिर Mutual Fund kya hota hai .

अब हम समझेंगे Mutual Funds कितने प्रकार का होता है ?

Read More-:

Mutual Funds कितने प्रकार का होता है ?

Mutual funds वैसे तो कई प्रकार के होते है परन्तु हम इन्हे दो बराबर भागो में बाटेंगे। पहला संरचना ( Functionality ) तथा दूसरा पूंजी ( assets ) के आधार पर।

1. Assets के आधार पर Mutual funds के प्रकार


a. Equity fund ( Equity म्यूच्यूअल फंड ) :-

यह एक basically, “High risk and High return” के सिद्धांत पर काम करता है। इसलिए इसी नए लोगो को खरीदने के लिए कभी सलाह नहीं दिया जाता है। इस प्रकार के फंड्स में तभी invest करे जब आपको जोखिमों से खेलना अच्छा लगता हो या फिर आप सारे funds में पहले से ही Invest किये हुए है।

b. Debt fund ( Debt म्यूच्यूअल फंड ) :-

नए लोगो के लिए यह एक बहुत ही बढ़िया प्लान है क्युकी Debt mutual fund, “low risk low return” के सिद्धांत पर काम करता है। इस फण्ड के अंतर्गत निवेशक सरकारी bonds इत्यादि खरीदते है जो की एक सेफ रास्ता है। परन्तु इसमें लाभ भी आपको काम ही मिलेगा।

इस mutual fund से यदि आप 10000 रुपये से अधिक का लाभ प्राप्त करते है तो आपको Taxes भरने पड़ेंगे।

c. Balanced fund ( balanced म्यूच्यूअल फंड ) :-  

बैलेंस्ड म्यूच्यूअल फण्ड equity और debt फण्ड का एक मिला जुला मिश्रण है। क्युकि इसमें निवेशकों का पैसा लेकर share market में बारे ही सावधानी से लगाया जाता है। दोनों में लगाने का मकसद साफ है एक तरफ से Income में स्थिरता बानी रहे और दूसरे side से ज्यादा ज़ोखिम लेकर ज्यादा मुनाफा कमाने की कोशिश किया जाता है।

d. Money Market Mutual fund ( Money market म्यूचुअल फंड ) :-

कम समय में ज्यादा कमाने का एक जबरदस्त प्लान है। इसप्रकार के plan बहुत ही कम समय के लिए होता है और पैसा बारे ही सावधानी से लगाया जाता है।

e. Liquid Mutual Fund ( Liquid म्यूच्यूअल फण्ड ) :-

लीक्विड म्यूच्यूअल फण्ड एक सुरक्षित फण्ड में आता है। यह भी एक Short term प्लान है। यदि आप काम समय और सुरक्षित निवेश करना चाहते है तो यह आपकी पहली पसंद बन सकती है।

2. संरचना ( Functionality ) के आधार पर Mutual fund के प्रकार

a. Open ended mutual fund ( ओपेन एंडेड म्यूच्यूअल फण्ड ) :-

यह बहुत ही Popular फण्ड में आता है क्युकि यहाँ पर निवेशकों को किसी भी समय अपना फण्ड खरीदने और बेचने की छूट होती है। आप जब चाहे तब ही इसे खरीद और बेच सकते है। इसलिए लोगों के द्वारा यह बहुत ही पसंद किया जाता है।

b. Closed mutual fund ( closed म्यूच्यूअल फण्ड ) :-

जैसा की नाम से ही पता चलता है यहाँ आपको opened mutual fund की तरह उतना आज़ादी नहीं मिलता है। ये funds आप खरीदने के बाद इसके निश्चित अवधी के बाद ही इसका लाभ ले सकते है। परन्तु इसको आप बाद में share market में लगा सकते हैं।

c. Interval mutual fund ( इंटरवल म्यूच्यूअल फण्ड ) :-

यदि आपको open ended mutual fund और closed ended mutual fund का मज़ा एक साथ लेना चाहते है तो interval mutual fund बिलकुल आपके लिए ही है।

अब आप बहुत ही अच्छे प्रकार से समझ गए होने की mutual funds कितने प्रकार के होते है। वैसे  तो म्यूच्यूअल फंड्स के बहुत सारे types होते है, परन्तु ये प्रमुख्य है।

तो अब बारी है ये समझने का की mutual fund में निवेश कैसे करे? मेन question तो यही है। और यही आके सभी सोच में पर जाते है की सुरक्षित निवेश कैसे करे ?

तो घबराईये नहीं हम इसका भी solution बतायेंगे की कैसे आप mutual funds में सुरक्षित निवेश कैसे करेंगे ?

Mutual funds में सुरक्षित निवेश कैसे करे ?

mutual फण्ड में निवेश करने के लिए google play store पर आपको बहुत सारे App मिल  जायेंगे।  जैसे Groww app, 5paisa, Paytm इत्यादि। परन्तु मेरा पसंदीदा  5paisa.com  है, इसका android app भी आपको मिल जायेगा।

5paisa.com  Sign up

sign up के बटन पर क्लिक करके आप अपना account खोल सकते है। इसमें Account खोलने के लिए आपको PAN Card, Adhar card, Signature Scan copy और Bank passbook के scan copy होना अनिवार्य है। परन्तु ये बहुत ही भरोसे मंद कंपनी है mutual fund में इन्वेस्ट करने के लिए।

referral code :- PANK908

परन्तु mutual fund में निवेश करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान देना बहुत जरुरी है।

Mutual fund me nivesh kaise kare
Mutual fund me nivesh kaise kare

mutual fund में निवेश करने से पहले इन बातों का ध्यान रखना बहुत ही जरुरी है।

10 तरीके जिनको आप नही जानते होंगे HOW TO EARN MONEY ONLINE 2020

अब आपकी बारी

 

Keyword क्या हैं? बिना SEO के अपना blog Rank करे Full Guide

keyword kya hai

नमस्कार, basic in Hindi के इस पोस्ट ( keyword kya hai ) में मैं पंकज आपका स्वागत करता हूँ। दोस्तों आप blogging के बारे में सोच रहे है तो सबसे पहला काम आपको keyword kya hai पर रिसर्च करना चाहिए। तो चलिए आपका पूरा काम मैं ही कर देता हूँ। मैं पूरी रिसर्च करके ये … Read more Keyword क्या हैं? बिना SEO के अपना blog Rank करे Full Guide