Artificial Intelligence in Hindi

5 Reason A Complete knowledge Pack on Artificial Intelligence in Hindi कृत्रिम बिद्धि

Artificial Intelligence in Hindi ! क्या आपको पता है 2050 तक हम सभी कृत्रिम बुद्धि ( Artificial Intelligence ) से घिरे होंगे. हमारा सभी काम जो एक मशीन या Robots के द्वारा किया जा सकता है, वो हम अपने Robots या फिर virtual machines के द्वारा करवाएंगे. है न, बहुत ही रोचक बात.

तो दोस्तों, आज हम अपने इस पोस्ट में बात करेंगे Artificial Intelligence in Hindi के बारे में, Artificial Intelligence के भविष्य के बारे में, Artificial Intelligence ( AI ) कैसे काम करता है? और तमाम चीजें जो आपको जरुर समझना चाहिए.

आज का हमारा टॉपिक है Artificial Intelligence ( AI ). Friends,  इस बिषय में internet पर बहुत कम लोग होंगे जो आपको बहुत ही आसन भाषा में Artificial Intelligence in Hindi को समझायेंगे, जो की इतना important बिषय है, जिसके बारे में हम सबको पता होना चाहिए.

सबसे पहले मैं बता दूँ की आपको Artificial Intelligence को क्यों समझना चाहिए. क्या आपको पता है की जब भी आप गूगल पर कुछ search करते है, तो आपको ठीक वही result कैसे दिखता है जिसकी आपको जरुरत है. आप कभी गौर किये होंगे की जब आप Amazon या Flipkart पर कोई सामान खरीदने के लिए कुछ search करते हैं, और जब आप उस टाइम नही खरीदते है तो ठीक उसके बाद आपके facebook, Youtube, Instagram या किसी भी दुसरे website पर उसी सामान का विज्ञापन आने कैसे लगता है? ये सब artificial intelligence का खेल हैं.

क्या आप कभी सोचे है की आप अपके मोबाइल में voice search कैसे काम करता है, कैसे वो आपके भाषा को समझ लेता है? या आप जब किसी company या Foctory में काम करने जाते है, तो वाहा आपको बहुत सारे ऐसे मशीन देखने को मिल जातें हैं, जो अपने आप ( Automatic ), जो काम दिया जाता है वो कैसे कर लेता हैं.

यदि नहीं सोचा है, या सोचा भी है, तो आपके मन में एक सवाल जरुर आता होगा, की आखिर ये कैसे काम करते हैं. क्या इसमे भी दिमाग होता है जैसे मनुष्य में होता हैं? जो इश्वर का अनमोल तोहफा हैं.

यदि आपने कभी नही सोचा इन सवालों के बारे में तो ये पोस्ट आपको लास्ट तक जरुर पढ़ना चाहिए. क्युकी मैं इस पोस्ट में आप सबको बताने वाला हूँ इन सबके पीछे का रहस्य जो है Artificial Intelligence in Hindi. तो चलिए बिना देरी किये समझते हैं.

ये भी पढ़ें :-

What is Artificial Intelligence In Hindi ( कृत्रिम बुद्धि क्या हैं ? )

दोस्त, हम सबको पता है की इंसानों में एक ही अनमोल चीज़ है और वो है बुद्धि ! और हम सब जानते है की दिमाग हमें पैदा होते ही मिल जाता है, परन्तु बुद्धि हमें अनुभवों से सिखना परता हैं. जरा सोचिये ये जब मशीनो में हो जाएँगी तो क्या होगा ?

Artificial Intelligence या कृत्रिम बुद्धि एक Program या Algorithm है जो मशीनों को दिमाग या बुद्धि प्रदान करता हैं.”

हम सब चाहते है की हमारा अधिकतम काम मशीन या computer कर दे. जैसे – यदि सुबह में हमें जल्दी उठाना है तो मोबाइल में हम अलार्म लगा देते हैं. या simple बोलते हैं “Hey Google, Set my alarm At 6:30 AM” और हमारा alarm लग जाता हैं.

इसलिए, हमारे आस पास मशीन को ऐसे बनाया जा रहा है जो हमारी बातों को समझे और उसे तुरंत कर दे.

Computer की भाषा में कृत्रिम बुद्धि को Intelligence agent कहा जाता है, जो हमारे आस पास के पर्यावरण को को देखकर, उसको दिए गये लक्ष्य को प्राप्त कर सके.

1956 में John McCarthy ने सबसे पहले Artificial Intelligence को “विज्ञानं और इंजीनियरिंग में बुद्धिमान मशीनों को बनाने” के लिए परिभाषित किया. जिसके बाद पूरी दुनिया में बवाल मच गया था और लोगों के मन में हजारो सवाल भी.

आज Artificial Intelligence बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा हैं. वो तमाम चीजें जो पहले सोचा जाता था की सिर्फ इन्सान ही कर सकते है, उसमे से ज्यादातर काम आज मशीन कर सकती है या कर रहीं हैं.

आपने कुछ दिन पहले ही RED FM या Youtube पर सुने या देखें होंगे दुनिया की पहली हिंदी बोलने वाली Robot, जिसका नाम “Rashmi” है. जिसको India में ही Mr. Ranjeet Shrivashtav जी के द्वारा बनाया गया हैं. ये हिंदी के आलावा भोजपुरी, माराठी, और भारत की बहुत सी भाषाओँ को बोल सकती हैं.

परन्तु ये दुनिया की पहली रोबोट नही है, यदि आप ध्यान से पढ़ें होंते तो, मैंने लिखा है दुनिया की पहली हिंदी बोलने वाली रोबोट.

कृत्रिम बुद्धि का इतिहास ( History of Artificial Intelligence )

  • सबसे पहले 1923 में RUR ( रोसम यूनिवर्सल रोबोट्स ) खोला गया जिसमे Robot शब्द का इस्तेमाल किया गया.
  • 1956 में सबसे पहले John McCharthy के द्वारा Artificial Intelligence को परिभासित किया गया.
  • 1958 में John McCharthy ने Artificial Intelligence के लिए LISP भाषा, जो एक Program है का अविष्कार किये.
  • 1964 में MIT ( Massachusetts Institute of Technology अमेरिका ) के डेनी ब्रोबो ने पता किया की Computer Algorithms प्राकृतिक भाषा को अच्छी तरह समझ सकता है.
  • 1965 में MIT के ही जोसेफ वेइजेंबाम के द्वारा एलिज़ा का अविष्कार किया गया जो अंग्रजी में एक संवाद पर काम करती हैं.
  • 1979 में पहला computer नियंत्रित Automatic Vehicle को बनाया गया जिसका नाम Stanford कार्ट रखा गया.
  • 1997 में Blue चेस program ने उस समय के विश्व शतरंज चैंपियन को हराया.इसके बाद से लगातार Artificial Intelligence में बदलाव आते गये और आज हम सब humanoid रोबोट्स को अपने जैसे बोलते और सुनते हुए देखते हैं. आईये कुछ Artificial Intelligence के कुछ उदहारण से समझते हैं.

Artificial Intelligence के कुछ उदहारण

हम सबको पता भी नही है परन्तु हम Artificial Intelligence के कई सारे उदहारण हम अपने आस पास ही देख सकते हैं. जैसे आप रोज़ अपना android phone प्रयोग करते ही होंगे, और उसमे google assistant के बारे में आपने सुना होगा.

जैसे ही आप गूगल को बोलते हैं “Hey Google What is artificial intelligence in Hindi” तो आपके सामने ये बहुत सारे result लाके रख देता हैं. तो आप थोरा थोरा समझ गये होंगे की Artificial Intelligence के उदहारण क्या क्या हैं. तो चलिए कुछ और उदहारण से समझ लेते हैं.

1. Siri

आप कभी Apple Iphone या फिर Ipod तो जरुर देखे होंगे या हो सकता है आपमें से कितने लो

Artificial Intelligence in Hindi Examples

ग तो प्रयोग भी करते होंगे या फिर किये होंगे. तो आप इससे

भली भाती परिचित होंगे, परन्तु जो लोग पहली बार इसका नाम सुन रहे हैं तो उनको मैं बता दूँ जैसे आप Android phone में google assistant

का प्रयोग करते है, ठीक वैसे ही Apple phone में Siri assistant है.

इसके अलावा Alexa जिसको Amazon के द्वारा launch किया गया है.

2. Tesla

ये company, Artificial Intelligence के मामलें में बहुत आगे हैं. टेस्ला space, टेस्ला Electronics, और टेस्ला इलेक्ट्रिक vehicle ये सब इसके कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्र हैं. Tesla Electric Vehicle के द्वारा लगातार Self driving कार के ऊपर research कर रहा हैं और उमीद है जल्दी ही हमें एक complete सेल्फ driving कार देखने को मिल जाये.

artificial Intelligence in hindi

3. Google Artificial Intelligence ( AI )

इसका आप नाम नही सुने है तो इसका मतलब आप किसी जंगल में रहते हैं और आप दुनिया से connect नही हैं. रोज़ मर्रा की जींदगी में हम लोग गूगल का इस्तेमाल करते रहते हैं. पिछले कुछ सालों में गूगल ने अपने Artificial Intelligence में बहुत ज्यादा improvement किया हैं.

चाहे वो Education के क्षेत्र में हो या फिर विज्ञापन देने के बारे में हो, गूगल हमारी जींदगी में अपना बहुत बार योगदान कहे या फिर हमारे जीवन में Interfere कर रहा हैं. इसके मदद से आप अपने skills को बढ़ा सकते हैं या अपना business बढ़ा सकते हैं.

4. Nest

ये सबसे पुराने और प्रसिद्ध AI startups में से एक है परन्तु हो सकता है आपमें से बहुत से लोग इसका नाम भी नही सुने होंगे. ये 2014 में स्टार्ट किया गया था बाद में इसे गूगल के द्वारा खरीद लिया गया हैं. इसके मदद से हम अपने व्यवहार की मदद से उर्जा बचाने के ऊपर काम करता हैं.

Artificial Intelligence के प्रकार

ऊपर आपने कुछ उदहारण देखा जिससे आपको समझ में आ गया होगा की Artificial Intelligence आखिर होता क्या हैं. अब हम जानेंगे की Artificial Intelligence in Hindi कितने प्रकार का होता हैं.

वैसे तो आप चाहे तो इसे कई भागों में बाँट सकते हैं परन्तु इसके मुख्या प्रकार दो हैं.

Weak AI और Strong AI

Weak AI

इस प्रकार के Artificial Intelligence को सिर्फ एक काम करने के लिए ही बनाया जाता हैं. ताकि किसी एक काम को ही ये बहुत आसानी से कर सके. जैसे की apple में siri और google में google assistant वैगैरह इसके कुछ उदाहण हैं.

Strong AI

जैसा की नाम से ही समझ गये होंगे की ये weak AI से ज्यादा मजबूत हैं. मतलब इसका उपयोग बरे कामो में किया जाता हैं जैसे रोबोट्स और बहुत बरे बरे मशीन जो multi purpose काम करने में सक्षम होते हैं. इनको कोशिस किया जा रहा है की मनुष्य के जैसा ही बुद्धि देने में कामयाब हुआ जाये.

ताकि आने वाले समय में इनसे कुछ मुश्किल से टास्क दिया जा सके. जो मन्नुष्य के द्वारा करना बहुत ही कठिन होगा. इसका उपयोग हॉस्पिटल में भी किया जा सके बरे बरे operation किया जा सके.

इसके अलावा ये चार और टाइप्स हैं जिसको जानाना चाहिए.

Reactive Machines

1990 में जब उस समय के सतरंज चैंपियन Garry Kasparov को एक Computer ने हराया तो पूरी दुनिया में बवाल होना लाजमी हैं. की आखिर ये कैसे काम करता हैं और ऐसा हुआ कैसे? ये IBM company की एक chess Program था जिसने उस समय के विश्व चैंपियन को हरा दिया था. ये एक Reactive Machine AI का बहुत ही बढ़िया उदहारण हैं.

अब समझते है की ये काम कैसे करता हैं ? सबसे पहले ये अपने सामने वाले खिलारी के चाल को समझता है और उसके हिसाब से best possible स्टेप को चुनता है और फिर अपना चाल चलता हैं. इसके पास अपनी को memory नही है इसलिए ये अपने द्वारा चली गयी चाल को याद नही रख सकता हैं.

ना हि ये अपने पुराने चाल को future के लिए प्रयोग करता हैं. बस ये खुद को समझता है और सामने वाले के चाल को समझता है फिर Chess Board में best possible स्टेप्स को चुनता है. ये सिर्फ React करता है इस लिए इसे reactive machine कहा जाता हैं.

Limited Memory

जैसे इन्सान अपने बीते हुए अनुभवों से सिख कर आने वाले काम को करता है ठीक उसी प्रकार से इस प्रकार के Artificial Intelligence अपने पुराने किये गये काम से अनुभव लेकर अपने Decision लेता हैं. इसका उपयोग automobiles  इंडस्ट्रीज में किया जाता हैं.

जैसे – कार का U-turn लेने में या फिर Accident से बचाने की लिए. ये Artificial Intelligence का एक उत्तम उदाहण है और आज भी इसपर काम चल रहा हैं. ये अनुभव या फिर यद्दास को हमेशा के लिए स्टोर करके नही रखता हैं.

Theory of Mind

चुकी इस प्रकार के Artificial Intelligence अभी वर्तमान में नही हैं परन्तु ये एक theory concept जरुर है. इसमे Human Beliefs, Desire और intention को समझने और उसके जैसा व्यवहार करने की बात कही गयी है. हालाँकि ये एक आदर्श अवस्था भी कहा जा सकता हैं.

Self Awareness

ये भी कहा जा सकता है की अभी तक सिर्फ एक कल्पना ही हैं क्युकी इस प्रकार के Artificial Intelligence अभी तक इस दुनिया में मौजूद नही हैं. ये खुद के परफॉरमेंस को समझते हैं. और खुद को सिखाते हैं. दूसरों के फीलिंग को study करते है और खुद को improve करते हैं.

Applications Of Artificial Intelligence ( कृत्रिम बुद्धि का उपयोग )

Hospital :-

दोस्तों यदि artificial Intelligence in hindi का मुझे कोई सबसे बरा फायदा लगता है, वो मुझे अस्पतालों के उपयोग में ही लगता हैं. क्युकी की कुछ ऐसे सूक्ष्म Operation को भी इसके द्वारा बहुत ही आसानी से किया जा सकता हैं. जो डॉक्टर को भी करने में बहुत परेशानी होती थी और बहुत ही कठिन लगता था, जान जाने की खतरा भी ज्यादा होती थी. परन्तु इसके द्वारा बहुत ही आसानी और एक दम सही किया जा सकता हैं.

artificial Intelligence का हेल्थ इंडस्ट्रीज में बहुत बरा योगदान हैं. इस क्षेत्र में सबसे पोपुलर हेल्थ केयर technology, IBM Watson हैं. तथा अब तो रोज़ मर्रा के जिन्दगी में कुछ पर्सनल असिस्टेंट Application या AI के कुछ अच्छे नमूने भी आ गये हैं, जो आपको जरुरी सलाह भी देते हैं.

Business में artificial Intelligence

आप यदि किसी बरी company में गये होंगे तो आपने जरुर देखा होगा ऐसे मशीनों को जो अपने आप सभी काम कर रहे हैं. यादी आपने नही देखा तो आपको जरुर देखना चाहिए. ये सभी रोबोट्स कहलाते हैं, जो की machine learning Algorithms के आधार पर काम करते हैं.

operator बस अपने जरुरत के हिसाब से इसके अन्दर DATA को डालते हैं और फिर ये रोबोट्स शुरू हो जाते हैं काम करने के लिए.

AI in Education ( शिक्षा में कृत्रिम बुद्धि )

शिक्षा में कृत्रिम बुद्धि का उपयोग परीक्षा लेने और result घोषित करने में ज्यादा हो रहा हैं. इसके द्वारा बच्चों का आकलन भी सही से किया जा सकता हैं. ताकि बच्चों को सही तरीके से पढाया जा सके. उनको उनके जरुरत के हिसाब से study material दिया सके.

आज कल आपने ध्यान दिया होगा की बहुत सारे competition परीक्षाओं में सिर्फ Objective Types ही प्रश्न पूछे जा रहे हैं. इसके पीछे का कारन भी AI ही हैं. इस प्रकार के Question में 4 विकल्प होते हैं जिनमे से कोई एक सही उतर होता हैं. और इस के परीक्षाओं में AI के मदद से result निकाला जाता हैं. आपका कॉपी भी AI यानि की Computer के द्वारा ही चेक किया जाता हैं.

वैसे तो artificial Intelligence के इतने फायेदे हैं की मैं लिखते लिखते थक जाऊंगा और आप पढ़ते पढ़ते थक जायेंगे. इसलिए आज के लिए इतना ही. अंत तक पढ़ने के लिए आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद !

अब आपकी बारी आई ( Comment and Share )

यदि आपके मन में Artificial Intelligence in Hindi सम्बंधित कोई और प्रश्न या सवाल हैं तो comment करने में शर्म न करे. या इस पोस्ट में आप कुछ सुझाव देना चाहते है तो प्लीज् हमें लिखिए और भेज दीजिये चाहे वो comment box हो या फिर contact Us के page से हो.

यदि मेरे द्वारा दी गयी जानकारी आपके किसी काम की है या पासन्द आई हो तो इसे अपने दोस्तों को जरुर भेजे चाहे वो Whatsaap के माध्यम से हो या facebook  जो भी use करते है. इसे share जरुर करे. ताकि उनको भी ये जानकारी मिल सके.

 

Leave a Reply